True Love : सच्चा प्यार की कहानी

मशहूर जर्मन संगीतकार मेंडेलसन के दादाजी मोज़ेस मेंडेलसन का  हुलिया कटाई आकर्षक नहीं था एक तो वे नाटे थे ऊपर से उनके शरीर पर एक अजीब सा कूबड़ भी था
 एक दिन वे हैम्बर्ग के एक व्यापारी से मिलने गए जिसकी  फ्रामजी   नाम की सुन्दर बेटी थी मोज़ेस  को पहली ही नजर में प्यार हो गया लेकिन फ्रामजी ने उनके अजीब से हुलिए को देखकर उन्हें नजरअंदाज कर दिया.
जब चलने का समय आया तो मोज़ेस ने हिम्मत जुटाई, यह उस स्वप्न सुंदरी से बात करने का आखरी मौका था वे सीढिया चढ़कर उसमे कमरे में पहुंचे वह स्वर्ग की पारी लग रही थी लेकिन मोज़ेस की तरफ देखना भी नहीं चाहती थी वह देखकर मोज़ेस बहोत दुखी हो गए उन्होंने बातचीत करने की कई कोशिश की लेकिन बात जैम नहीं रही पाई आखिर मोज़ेस ने शरमाते हुए पूछा ” क्या आप यह मानती है की शादिया स्वर्ग में तय होती है “
“हाँ ” उस लड़की ने फर्श की तरफ ही देखते हुए जवाब दिया ” और आप ? “
हाँ , मैं अभी यही मानता हूँ , मोज़ेस ने जवाब दिया. ” देखिये हर लड़के के जन्म के समय स्वर्ग में ईश्वर उसे यह बताता है की उसकी शादी किस लड़की से होगी. जब मै पैदा हुआ तो मुझे मेरी भावी दुल्हन दिखाई गई. फिर ईश्वर ने आगे कहा ” लेकिन . तुम्हारी पत्नी कुबरी होगी “.
” उसी वकत मैंने चिल्लाकर प्रभु से कह दिया , ‘ हे ईश्वर, अगर वह कुबरी हुई तो कितनी बुरी बात होगी. हे ईश्वर, मेहरबानी करके कुबेर मुझे दे दो और उससे सुन्दर बना दो “
तब फ्रामजी ने उनकी आँखों में देखा उससे वह गहरा प्यार नज़र आया. उसने अपना हाथ बढाकर मेंडेलसन के हाथ में दे दिया और बाद में बाद उनकी निष्ठावान पत्नी बन गई