Money Quotes in Hindi – Money Shayari – Sufalta

धन किसी व्यक्ति का न्ही संमपुराण रास्ट्र का है.  यजुर्वेद धन से धन की भूख बढ़ती है, तरपति न्ही होता। प्रेमचंद पृश्राम के कमाया धन और उसका सदुपयोग बहोट बड़ी नियामत है. राजा ज़िमान गोधन गजधन वाजिधन और रतन धन ख़ान,जा आवे संतोष डॅन सब धन धुरी समान। कबीर यदि आप हमारे साथ कुछ Share करना चहते है जैसे Hindi  में कोई Article, Quotes, Inspirational Story, या कोइ अन्य जांकारी, तो Please हमे अपनी फोटो के साथ Email  करे, हमारा पता है 📧 mail@sufalta.com. पस्न्द आने पर हमारी Team; आपके Post को आपके नाम और फोटो के साथ

Continue Reading

Site Footer