Immorality Quotes in Hindi – Sufalta


कोई भी कर्मा अपने आप पाप अथवा पुण्य न्ही हो सकता ठीक जिस प्रकार बिंदु या शून्य का स्वतः कोई मूल्य नही होता।

स्वामी राम तीर्थ

पाप एक प्रकार का अंधेरा है जो ज्ञान के प्रकाश हेते ही मिट जाता है.

राजा ज़िमान

इश्स भ्र्म मे मत रहो की पाप प्रारब्ध से होते है पाप होते है तुम्हारी आसक्ति से और उनका फल तुम्हे भोगना पड़ेगा।

हनुमान प्रसाद

जहा किसी प्रलोभन से प्रेरित होकर तुम कोई पाप करने को उतारू हो वही ईश्वर की उपस्थिति का अनुभव करो.

स्वामी राम तीर्थ

जिस कार्य से आत्मा का पतन हो वही पाप है.

महात्मा गाँधी

दुस्ते की स्त्री के अनुचित संबंध के बड़ा कोई पाप दूसरा नही है.

प्रेमचंद

पाप छिपाने से बढ़ता है.

शरतचंद्र

यदि आप हमारे साथ कुछ Share करना
चहते है जैसे Hindi  में कोई Article, Quotes, Inspirational Story, या कोइ अन्य जांकारी, तो Please हमे
अपनी फोटो के साथ Email  करे, हमारा
पता है 📧 mail@sufalta.com. पस्न्द
आने पर हमारी Team; आपके Post को
आपके नाम और फोटो के साथ यहा PUBLISH करेगी.  – धन्यवाद
!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *